UNCATEGORIZED

*सहकारिता कृषि की रीढ़, इसे समृद्ध करना जरूरी*

*सहकारिता कृषि की रीढ़, इसे समृद्ध करना जरूरी*

(आशा शर्मा)

बुलंदशहर। जनपद के जहांगीराबाद क्षेत्र में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय सहकारिता सम्मेलन का आयोजन किया गया।
इफको किसान सेवा केंद्र, जहांगीराबाद में राष्ट्रीय सजीव प्रसारण किया।
कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए क्षेत्रीय प्रबंधक डॉ० प्रहलाद सिंह ने कहा कि सहकारिता के माध्यम से समाज में समृद्धि आए। सहकारिता और अच्छे से कार्य करें। इससे नई ऊर्जा मिलेगी। किसानों के लिए बहुत हितकर होगा। सहकारी संस्थाएं किसानों से जुड़ी हुई है। किसानों के लिए चाहे कृषि आदान हो, खेती बाड़ी की चीजें हो, खाद , बीज, दवाई का व्यवसाय हो, चाहे किसानों के ऋण हो, इसका सहकारी बैंकों के माध्यम से वितरण किया जाता है।
सहकारिता हमारी कृषि की रीढ़ है। इसे समृद्ध करने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है इसमें मुख्य अतिथि केंद्र सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह के संबोधन का सजीव प्रसारण जनपद बुलंदशहर में इफको द्वारा 25 बिक्री केंद्रों के माध्यम से 2000 किसानों को सीधा प्रसारण दिखाया गया एवं अन्य सहकारिता विभाग के कर्मचारी और किसानों को वर्चुअल अथवा यूट्यूब के माध्यम से लगभग 2000 लोगों को जोड़ा गया। सहकारिता क्षेत्र को सशक्त करने के लिए सहकार से समृद्ध के साथ सहकारिता मंत्रालय की स्थापना की गई है।
इफको सहकारिता को मजबूत करने में भी अहम भूमिका निभाएगा। यह आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबका साथ सबका विकास उद्देश्य को साकार करने की दिशा में भी काम करेगा। इफको किसान सेवा केंद्र प्रभारी . ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close