UNCATEGORIZED

*वूमेन टीचर्स एसोसिएशन आफ उत्तर प्रदेश (उत्तर प्रदेश महिला शिक्षक संघ) के तत्वाधान में नारी है सृष्टि का आधार, पीरियड लीव है उसका अधिकार ट्विटर पर हैशटैग महा अभियान*

*वूमेन टीचर्स एसोसिएशन आफ उत्तर प्रदेश (उत्तर प्रदेश महिला शिक्षक संघ) के तत्वाधान में नारी है सृष्टि का आधार, पीरियड लीव है उसका अधिकार ट्विटर पर हैशटैग महा अभियान*

(आशीष सिंघल ग्रेटर नोएडा)

वूमेन टीचर्स एसोसिएशन आफ उत्तर प्रदेश (उत्तर प्रदेश महिला शिक्षक संघ) के तत्वाधान में, प्रदेश अध्यक्ष सुलोचना मौर्य जी के नेतृत्व में प्रदेश भर की समस्त सेवारत महिला शिक्षकों एवं अन्य महिला कर्मियों को पीरियड की समस्या पर माह में 3 दिन का पीरियड लीव देने हेतु माननीय मुख्यमंत्री जी को ज्ञापन प्रेषित करते हुए आज ट्विटर पर उक्त मांग के समर्थन हेतु मंडल अध्यक्ष रूचि सैनी व जिला महामंत्री पुष्पा अरुन के नेतृत्व में चले महाअभियान में बरेली की महिलाएं भी अपनी माँग को लेकर जागरूक रही। आज सुबह 10:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक ट्विटर पर”#पीरियड लीव”के अंतर्गत महाअभियान चलाया गया जिसमें बरेली की महिला शिक्षिकाओं और महिला कर्मियों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। बरेली मे हज़ारो महिलाओं ने अपने ट्विटर एकाउंट्स से ट्वीट किया l प्रदेश भर में 03 घंटे में पौने दो लाख से अधिक लोगो ने ट्वीट कर अपनी मांग को माननीय मुख्यमंत्री जी तक पहुचाया गया, हमें आशा है कि माननीय मुख्यमंत्री जी शीघ्र ही यथोचित घोषणा उक्त विषय के संदर्भ में अवश्य करेंगे ।माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा इस समय प्राथमिकता के साथ महिलाओं को सशक्त बनाने की दिशा में मिशन शक्ति के संबंध में पुरजोर कार्य किया जा रहा है ।पीरियड लीव के ट्विटर अभियान पर मिले लाखों की संख्या में समर्थन से सर्व भौमिक स्पष्ट होता है कि यह यथोचित मांग है, हम सभी पूर्ण आश्वस्त है कि सभी महिला कर्मियों को माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा माह में 3 दिन के पीरियड लीव के संदर्भ में जरूर घोषणा करेंगे ।जैसा की सर्वविदित है कि भारत के अंदर दर्जन भर कई प्राइवेट कंपनियां महिलाओं को पीरियड लीव देती हैंl जैसे-जोमैटो ,इसके अलावा बिहार राज्य में आज से 30 साल पहले ,1992 से यह लीव वहां के समस्त महिला कर्मियों एवं शिक्षिकाओं को दी जा रही है।पीरियड लीव एक प्राकृतिक समस्या है जिसमे महिलाओं शिक्षिकाओं को एवं अन्य कर्मियों को काफी दूर तक घंटो यात्रा भी करनी पड़ती है ऐसे में उनका स्वास्थ प्रभावित होता है इन दिनों में डॉक्टरी सलाह है कि ऐसे में आराम करना चाहिए ।

इन्हीं सभी कारणों और जरूरतों के लिए ही प्रदेश अध्यक्ष सुलोचना मौर्य के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश महिला शिक्षक संघ की कार्यकारिणी माननीय मुख्यमंत्री जी से मांग करती है कि प्रदेश के समस्त महिला कर्मियों को माह में 3 दिन का पीरियड लिव देने हेतु शासनादेश जारी करने की कृपा करें।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close