UNCATEGORIZED

*पिता पर हो रहे 2 लाख रुपये के कर्ज की खातिर किया था बच्चे का अपहरण, पुलिस ने मुठभेड़ के बाद 1 बदमाश को किया गिरफ्तार*

*पिता पर हो रहे 2 लाख रुपये के कर्ज की खातिर किया था बच्चे का अपहरण, पुलिस ने मुठभेड़ के बाद 1 बदमाश को किया गिरफ्तार*

पिता पर हो रहे 2 लाख रुपये के कर्ज की खातिर किया था बच्चे का अपहरण, पुलिस ने मुठभेड़ के बाद 1 बदमाश को किया गिरफ्तार

आशीष सिंघल, दनकौर
दनकौर पुलिस ने करीब 10 दिन पहले क्षेत्र के नौरंगपुर गांव से 12 वर्ष के एक बच्चे के अपहरण के मामले में फरार एक बदमाश को ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे से रविवार रात मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। जिसके कब्जे से पुलिस ने 1 तमंचा, 1 कारतूस और बाइक भी बरामद की है। जबकि उसका एक साथी पुलिस को चकमा देकर मौके से फरार हो गया। बताया जाता है कि गिरफ्तार बदमाश ने अपने पिता पर हो रहे 2 लाख रुपये के कर्ज की खातिर यह अपहरण किया था। घायल बदमाश को पुलिस ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।

रास्ता पूछने के बहाने से किया था बच्चे का अपहरण: दनकौर पुलिस ने बताया कि नौरंगपुर गांव निवासी 12 साल के बच्चे यश नागर का अपहरण 13 फरवरी को करने के बाद बदमाशों ने बच्चे को अपने रिश्तेदार के यहां रखा था। बाद में पुलिस का दबाब बनता देख बदमाश 2 दिन बाद उसके दनकौर में ही सकुशल छोड़कर चले गए थे। जिसके बाद ही पुलिस बदमाशों का सीसीटीवी फुटेज के आधार पर सुराग लगाने में जुटी हुई थी। पुलिस इस मामले में दोनों बदमाशों का सुराग लगा चुकी थी। रविवार की रात पुलिस ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर गस्त कर रही थी। उसी दौरान एक बाइक पर सवार होकर दो युवक वहां से गुजर रहे थे। जिनको पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। इस दौरान बचाव में पुलिस ने भी गोली चला दी। इस घटना में एक बदमाश गोली लगने से घायल हो गया। जबकि दूसरा मौके से फरार हो गया। घायल बदमाश ने बताया कि उन्होंने ने ही बच्चे का अपहरण किया था। जिसकी पहचान हरियाणा के छांयसा कोतवाली के चांदपुर गांव निवासी इंतजार के रूप में हुई है। जिसके कब्जे से पुलिस ने 1 तमंचा, 1 कारतूस और बाइक बरामद की है। आरोपित ने बताया कि उसने अपने फरार साथी नदीम के साथ मिलकर बच्चे का अपहरण रास्ता पूछने के बहाने से किया था।

पिता पर हो गया था 2 लाख रुपये का कर्ज: गिरफ्तार बदमाश इंतजार ने बताया कि उसके पिता के साथ कई महीने पहले 2 लाख रुपये की ठगी हो गई थी। जिसके चलते उसके पिता पर कई लोगों का कर्ज हो गया था। जिसके बाद से वह बहुत परेशान था। जिसके कर्ज को उतारने की वजह से ही उसने अपने साथी के साथ इस अपहरण को अंजाम दिया था। लेकिन पुलिस के डर से वह बच्चे को सकुशल छोड़कर फरार हो गए थे। आरोपित ने बताया कि 13 फरवरी को वह दनकौर के अट्टा फतेहपुर गांव में अपनी ट्यूबवेल पर मोटर को बदलने अपने साथी नदीम के साथ आया था। जहां पर उन्होंने किसी भी बच्चे के अपहरण करने की योजना बनाई थी। जिसके बाद वह नौरंगपुर गांव के नजदीक से यश का अपहरण करके ले गए थे।

नौरंगपुर निवासी 12 साल के बच्चे के अपहरण के मामले में पुलिस ने मुठभेड़ के बाद एक बदमाश इंतजार को गिरफ्तार किया है। जबकि उसका साथी नदीम पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। जिसको भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close